शुरूआती 15 वर्ष तक सुकन्या समृद्धि एकाउंट  में पैसा जमा करना पड़ता है, इसके पश्चात बगैर पैसा जमा किए 6 साल तक यह अकाउंट चलता रहता है। जब 21 वर्ष होने पर खाता मैच्योर हो जाता है, तो एकाउंट में जमा राशि एवं ब्याज का पैसा दोनों खाताधारक कन्या को मिल जाते हैं।

सुकन्या समृद्धि एकाउंट से क्या मैच्योरिटी यानी 21 वर्ष की अवधि पूरी होने पर ही इस खाते से पैसा निकाला जा सकता है? यदि खाता 21 साल नहीं चलाया जाता तो किन विशेष परिस्थितियों में इस खाते से पैसा निकाला जा सकता है?

सुकन्या समृद्धि एकाउंट जिस कन्या के नाम पर खोला गया है, यदि 18 वर्ष की उम्र पूरी करने के पश्चात उसकी शादी होती है तो इस एकाउंट में मौजूद बैलेंस (balance) का 50 प्रतिशत निकाला जा सकता है।

जैसे मान लीजिए कि आपकी बेटी की शादी 14 फरवरी, 2024 को है। आपके इसके लिए पैसा निकाल रहे हैं तो अधिकतम राशि 31 मार्च, 2024 को इस खाते में जो बैलेंस था, उसकी 50 प्रतिशत होगी।

सुकन्या समृद्धि एकाउंट जिस कन्या के नाम पर खोला गया है, यदि 18 वर्ष की उम्र पूरी करने के पश्चात उसकी शादी होती है तो इस एकाउंट में मौजूद बैलेंस का 50 प्रतिशत निकाला जा सकता है। आपको बता दें कि यह 50 फीसदी भी पिछले फाइनेंशियल ईयर के बैलेंस का होना चाहिए।

जैसे मान लीजिए कि आपकी बेटी की शादी 14 फरवरी, 2024 को है। आपके इसके लिए पैसा निकाल रहे हैं तो अधिकतम राशि 31 मार्च, 2024 को इस खाते में जो बैलेंस था, उसकी 50 प्रतिशत होगी।यानी अगर इसमें तीन लाख रूपये जमा हैं तो आप डेढ़ लाख रुपए निकाल सकेंगे।

10वीं की पढ़ाई के पश्चात कन्या की उच्च शिक्षा भी एक ऐसी विशेष परिस्थिति है, जिसके लिए इस खाते से आधा पैसा निकाला जा सकता है। यह सुविधा कन्या के 18 वर्ष की उम्र पूरी करने के पश्चात मिल जाती है।

और अधिक सुकन्या समृद्धि एकाउंट से पैसा निकालने के नियम जानने के लिए नीचे क्लीक करें -