देश में स्ट्रीट वेंडर्स यानी कि सड़क किनारे कपड़े, कॉपी किताबें, जूते, खाने पीने का सामान बेचकर अपना गुजारा करने वाले छोटे-मोटे विक्रेताओं, फड़ रेहड़ी लगाने वाले लोगों के लिए पीएम स्वनिधि योजना की शुरुआत की गयी है।

पीएम स्वनिधि योजना के तहत इन लोगों को रोजगार के लिए अलग से बाजार स्थापित करने जाने यानी स्ट्रीट वेंडिंग जोन बनाने और उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान करने की कोशिश की जाएगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में एक जून, 2024 को हुई कैबिनेट बैठक में पीएम स्वनिधि योजना शुरू करने पर निर्णय हुआ। इस योजना के तहत तय किया गया कि देश के रेहड़ी और पटरी वालों को अपना खुद का काम नए सिरे से शुरू करने के लिए केंद्र सरकार 10 हजार रुपये का लोन देगी।

बता दें कि इस पीएम स्वनिधि योजना को प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्म निर्भर निधि के नाम से भी जाना जाएगा। देश के सभी छोटे विक्रेताओं को इस योजना में शामिल किया गया है। योजना की खास बात यह है कि विक्रेताओं को लोन की राशि को एक साल के भीतर किश्तों में चुकाना होगा।

पीएम स्वनिधि योजना के तहत राशि पर लगने वाले ब्याज का सात फीसदी केंद्र सरकार, जबकि दो प्रतिशत राज्य सरकार वहन करेगी। यदि वेंडर्स सफलता के साथ अपना लोन एक साल में चुकाने में कामयाब रहता है तो यह राशि लाभार्थी के खाते में सब्सिडी के रूप में भेजी जाएगी।

इस योजना के तहत 50 लाख से भी अधिक होने को लाभ मिलने की उम्मीद जताई जा रही है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए, रोजगार पाने के लिए लाभार्थी को आवेदन प्रक्रिया को पूरा करना होगा।

इस योजना के तहत जुर्माने का कोई प्रावधान नहीं रखा गया है। यानी कि यदि आप लोन ली गई धनराशि की एक दो किश्त चुकाने में चूकते हैं यानी उसे नहीं भी चुका पाते हैं तो आप कोई जुर्माना नहीं लगेगा। इस तरह लोग बगैर हिचक इस योजना का लाभ उठा सकेंगे।

पीएम स्वनिधि योजना आवेदन प्रक्रिया

पीएम स्वनिधि योजना का लाभ लेने के लिए आपको ऑफिशियल वेबसाइटhttps://pmsvanidhi.mohua.gov.in/ पर जाकर आवेदन करना होगा।

पीएम स्वनिधि योजना के बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करे?