अधिकांश नौकरियों में, चाहे वह प्राइवेट हो या सरकारी, सेवानिवृत्ति की एक निश्चित आयु होती है। कहीं यह 58 साल है, कहीं 60 तो कहीं 65 साल। सरकारी कर्मचारियों को सेवानिवृत्ति (retirement) पर पेंशन दिए जाने का प्रावधान है लेकिन प्राइवेट नौकरी करने वाले या फिर रोजगार के लिए अन्य किसी काम से जुटे लोगों के लिए वृद्वावस्था में जीवन यापन के लिए निश्चित आय का कोई सुनिश्चित जरिया नहीं हैं।

से ही लोगों की मदद के लिए राज्य सरकारें कई पेंशन योजनाएं चलाती हैं। ऐसी ही एक योजना मध्य प्रदेश सरकार भी चला रही है। इसका नाम है वृद्धा पेंशन योजना आज इस पोस्ट (post) के माध्यम से हम आपको इस योजना के संबंध में जानकारी देंगे।

आपको बता दें कि एमपी वृद्धा पेंशन योजना के तहत आवेदक को 60 से 69 वर्ष के बीच उम्र होने पर तीन सौ रूपये प्रति माह आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। यदि आवेदक की आयु 80 साल या उससे अधिक होती है तो उसे पांच सौ रूपये प्रति माह आर्थिक सहायता प्रदान किए जाने का प्रावधान किया गया है। यह राशि ज्यादातर मामूली बीमारी के वक्त उनके दवा, दारू आदि पर इस्तेमाल होती है।

मध्य प्रदेश सरकार की ओर से शुरू की गई इस योजना का उद्देश्य मध्य प्रदेश के गरीबी की रेखा से नीचे जी रहे यानी बीपीएल (BPL) वर्ग के वृद्ध नागरिकों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है। इससे उनका जीवन यापन करना सरल होगा।

मित्रों, बताया जाता है कि इस योजना से लगभग 35 लाख से भी अधिक लोगों तक आर्थिक सहायता पहुंचेगी। पेंशन की राशि सीधे लाभार्थी के खाते में जाएगी, इससे बिचैलियों का रास्ता भी बंद हो जाएगा। पेंशन लगवाने के नाम पर उनके साथ किसी तरह का फ्राड संभव नहीं हो सकेगा।

MP Vridha Pension Scheme 2024 के अंतर्गत राज्य के 60 से 69 आयु के वृद्ध नागरिको के लिए 300 रुपये प्रतिमाह और इससे ऊपर के वृद्ध नागरिको के लिए ₹500 की आर्थिक सहायता राशि प्रतिमाह दी जाएगी।

अगर आपके पास ऊपर दी गयी सभी पात्रता जरूरी दस्तावेज है तो आपhttps://socialsecurity.mp.gov.in/Home.aspx वेबसाइट पर जाकर इस योजना में अपना आवेदन कर सकते हैं।

एमपी वृद्धा पेंशन योजना की अधिक जानकारी के लिए नीचे लिंक पर  क्लिक करें?