अधिकतर लोगों को उनकी छुट्टी माल में बिताते आसानी से देखा जा सकता है। इन दिनों लुलु माल की बहुत चर्चा है। आइए, जान लेते हैं लुलु माल के बारे में वह सब कुछ, जो अभी तक अनजाना है। आइए, शुरू करते हैं-

लुलु का शाब्दिक अर्थ क्या है?

दोस्तों, अब आपको यह जरूर लग रहा होगा कि भला ये लुलु भी कोई नाम हुआ! तो आइए, हम आपको लुलु का अर्थ बताते हैं। साथियों, दरअसल लुलु (Lulu) एक अरबी शब्द (Arabic word) है, जिसका मतलब मोती (Pearl) होता है। इसी के नाम पर ग्रुप का नाम लुलु ग्रुप (Lulu group) पड़ा है।

लुलु ग्रुप का मुख्य कारोबार क्या है?

आपको बता दें दोस्तों कि लुलु ग्रुप (Lulu group) हाइपरमार्केट एवं रिटेल कंपनियों (retail companies) की एक बड़ी चेन चलाता है। लुलु ग्रुप इंटरनेशनल ने में अपना पहला सुपर मार्केट (super market) आबू धाबी में खोला था। लुलु ग्रुप का सालाना टर्नओवर (annual turnover) 8 अरब डॉलर का है।

भारत में लुलु ग्रुप के कितने माल हैं?

मित्रों, आपको जानकारी दे दें कि भारत में इस कंपनी का लखनऊ में पांचवां माल खुला है। इससे पूर्व उसने कोच्चि , बंगलुरू  त्रिशुर )और तिरुवनंतपुरम (trivandrum) में अपने सुपर मार्केट खोले हैं। आपको बता दें दोस्तों कि कोच्चि का माल भारत में लुलु ग्रुप का सबसे बड़ा माल है।

भारत में किस शहर के लुलु माल में आधी रात भीड़ जुट गई थी?

दोस्तों ये त्रिवेंद्रम का लुलु माल था। यहां 6 जुलाई, 2024 की आधी रात 11.59 बजे से सेल शुरू हुई, जो अगले दिन सुबह तक चली। यह कंपनी का एक ट्रायल था, जिसे वह आगे भी जारी रखने की मंशा जता चुकी है।

लुलु आधी कीमत पर सेल कैसे लगा पाता है?

मित्रों, आपके मन में यह सवाल अवश्य उठ रहा होगा कि लुलु करीब आधी कीमतों पर सेल कैसे लगा लेता है? तो इसका जवाब यह है दोस्तों कि लुलु का मॉल तो है ही, इसके अतिरिक्त उसके कई स्टोर भी हैं। दुनियाभर में इसका कारोबार फैला है।

लुलु ग्रुप का मालिक कौन है?

दोस्तों, आपको यह जानकर हैरत होगी कि एक मूल रूप से भारतीय यूसुफ अली ही लुलु ग्रुप के मालिक हैं। इनका नाम एसए यूसुफ अली (MA Yusuff Ali) है। अली केरल के त्रिशूर जिले में स्थित नाट्टिका नामक जगह के रहने वाले हैं।

लुलु मतलब क्या होता है? लुलु ग्रुप का मालिक कौन है? अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक पर  क्लिक करे?